सुन्दर भाभी की चुदाई की कहानी

सुन्दर भाभी की चुदाई – Sundar Bhabhi Ki Chudai.

सब औरतों की चोदरी पुदी को और सब पुरुषों के चुदक्कड लावड़ा को मेरे ख़ड़े लंड का सलाम । मेरी पिछली कहानी मामा की बेटी की मेरे चचेरे चाचा ने चुदाई की उसमे बताया था कि हम जहा रहते हैं वहाँ या तो हम अपने यहाँ काम करने वाली या वालों के साथ चुदाई कर सकते हैं या अपने रिश्ते में चुदाई कर सकते हैं। तो अपनी ज़िंदगी लावड़ा घोट कर तालाब में नहाती औरतों का या बाथरूम में नहाती रिश्तेदार औरतों का बुर या कभी कभी ब्लू फिल्म देखकर कट रही थी। मेरी उमर 25 की होगयी थी चुदाई नही कर पाया था और लवड़ा घोट घोट कर लिटर भर बीज बहा चुका था। पर किस्मत एकदिन पलटा। घर मे शादी थी एक सुंदर भाभी स्लीवलेस ब्लाउज पहनी थी जिसमे उसके बाल एक दो पहले साफ की होगी तो छोटा छोटा दिख रहा था। भाभी एकदम white परफेक्ट फिगर 34 साइज के दूध और हाइट 5फ़ीट दो इंच रहा।

एकबात मैं बता दु की किसी औरत को नंगी देखकर मेरा लवड़ा जितना परेशान नही करता उतना औरत का अंडर आर्म खासकर बहुत छोटे छोटे वहाँ का बाल देझकर चुदास मच जाता है। मैं भाभी का अंडर आर्म देखता तो ऐसे लगता था कि सबके सामने उसे वही चोद दु। पर ऐसा तो संभव नहीं हो सकता था। पर रात में किस्मत पलटा और मुझे उसके बाजू में सोने का मौका मिला। बच्चा सोता नही बोलके भाभी ने लाइट बन्द करा दिया। थोड़े देर के बाद में मैं धीरे से उसका अंडर आर्म छूने की कोशिस करने लगा तो वो मेरा हाथ हटा दी। मुझे लेकिन ये समझ आगया की ये हल्ला नही करेगी तो फिर हाथ उसके अंडर आर्म की ओर लेजाने लगा तो वो हाथ को पकड़ के दबा ली मैं कोशिश कर जबरदस्ती उसके तरफ लेजाने लगा तो अंदर आर्म की जगह उसका निप्पल टच होगया। मैं तुरंत हाथ हटा लिया और फिर अंडर आर्म की तरफ लेजाने लगा तो फिर निप्पल टच हुआ तो इसबार हाथ नही हटाया और निप्पल पर ही रखा। निप्पल टाइट छोटे से लवड़ा लग रहा था। फिर निप्पल को दो उंगली के बीच दबाने लगा तो वो स स स कर दूध के नोचे हाथ दबाकर मेरे गालों को छूने लगी। तो मैं उसे किस कर लिया।  बीच मे उसका छोटा बच्चा सोया था तो बात आगे कैसे हो और मेरी गांड भी फट रही थी।

Sundar Bhabhi Ki Chudai 

जय शर्मा जी की पिछली कहानी को पढ़ने के लिए क्लिक करें  :

एक तो आजतक बुर नही चोदा था ऊपर से अनुभवी औरत जो खुला ऑफर दे रही थी वो भी जिसके गोरे गोरे बगल का छोटा छोटा बाल देखकर दिनभर चुदास लग रहा था। फिर मैं पेशाब करने के लिए उठा और आकर उसकी तरफ जाकर बेड केनीचे बैठकर उसे लिप् किस करने लगा तो उसने हाथ से इशारा कर ऊपर बेड में आने बोला तो उसके बाजू में सोकर किस करते हुए दूध दबाने लगा और उसका निप्पल सहलाने लगा। वो स स स करते मुझे अपने ऊपर खिंच लिया। मैं ऊपर आकर उसे चूमते हुए उसके बगल के चूमने लगा तो एकदम गरम होकर मेरे चेहरे को अपने दूध पर दबाने लगी तो मैं उसका निप्पल चुसने लगा और उसके हाथ को पकड़ कर अपने निक्कर के अन्दर लेजाकर लवड़ा पकड़ा दिया। फिर उसके हाथ को पकड़ कर लवड़ा सहलाने का इशारा किया और उसके निप्पलों को चुसने लगा। वो एकदम गर्म होकर अपना चड्डी निकाल दी और मेरा निक्कर भी एक झटके में नीचे कर दोनों टांग फैला कर मेरा लावड़ा अपनी पुदी में घुसाने लगी। मेरा लवड़ा बहुत जोर से दर्द किया और मेरे मुह से आह निकल गया तो पूछी क्या हुआ तो मैं बोला लवड़ा दर्द होरहा तो बोली पहली बार है क्या। तो मैं बोला हा तो बोली धीरे धीरे घुसाओ और धीरे धीरे से आगे पूछे करो। फिर मैं धीरे धीरे चोदने लगा। ज्यादा देर नही टिका उसकी पुदी में बीज गिर गया। फिर मेरे बाल को सहलाई और बोली कि बाथरूम जाकर मूत कर धोलो।

दूसरे दिन उसे देखकर शर्म आरही थी पर वो नार्मल थी। वो केवल 26 की थी पर औरत थी उसे मालूम था। अकेले में मिली तो मुस्कुराई, मैं बोला सॉरी मैं आपके बगल के बाल देखकर एकदम कंट्रोल नही कर पाया वैसे भी तुम बहुत सुंदर हो। तो वो बोली कि तुम भी बहुत सुंदर हो और मैं समझ गयी थी कि तुम मेरा बगल देख रहे हो। मैं बगल में सोई तो मुझे लगने लगा कि कुछ कर सकते हो पर तुम पढ़ाई में तेज हो और बाहर डिसेंट हो तो सोची की कहीं ज्यादा नखरा दिखाउंगी तो तुम हिम्मत नही करोगे इसलिए तुम्हे मैंने आगे बढ़ने दिया। लेकिन जब इधर आकर मेरा निप्पल दबाने लगे तो एकदम गर्म होगयी। मैं निप्पल को छूने या चूमने से गर्म होजाती हु। तो मैं फिर सॉरी बोला कि मेरा बीज जल्दी गिर गया तो वो बोली कि तुम पहली बार चोद रहे हो। मैं खुश थीं कि कुवांरे देवर का सील तोड़ने मिला। तो मैं बोला कि भाभी मैं तुम्हे खूब चूमकर तुम्हे ठीक से चोदना चाहता हूँ। वो बोली कहाँ तो मैं बोला मेरे घर चलते है। घर जे सब लोग यही है घर खाली है। तो वो बोली रुको देखती हूं। फिर एक घंटे बाद वो आयी और बोली कि चलो। मैं उसे घर  लेगया, जाते ही उसे चूमने लगा उसके बगल को चूमने और बगल की खुसबू लेने लगा। वो एकदम गर्म होकर मुझे अपने निप्पल चुसवाने लगी कभी दायां तो कभी बायां।

सुन्दर भाभी की मजेदार चुदाई

तब मैंने अपना लवड़ा निकाल के उसे पकड़ा दिया तो वो सहलाने लगी फिर मेरे लवड़ा को देखकर बोली कि तुम्हारा तो तुम्हारे भाई के लंड से मोटा और लंबा भी है। मैं बोला कि भाभी मुझे तुम्हारी पुदी देखनी है मैं आजतक देखा नही हु। तो बोली नही छि क्या देखोगे तो मैं उसे जबर्दस्ती बेड पर सुला कर चड्ढी खिंच कर नंगी कर दिया। उसकी पुदी को जब देखा तो पागल होगया एकदम गोरी पिंक टीटा दोनो टीटा बराबर। मैन आजतक इतनी सुंदर पुदी ब्लू फिल्म में नही देखा था। मैं पगला गया और उसके बुर को चूम लिया। उसकी बुर से हल्की महक आरही थी जो मुझे अच्छी नही लगी क्योंकि पहली बार थी फिर भीबुर को एक दो बार जीभ से चाट लिया। भले मुझे अब बुर चाटना बहुत पसंद है। फिर तो उसके उपर चढ़ कर उसके बुर में लवड़ा घुसाया और गच गच चोदने लगा। उसने निप्पल को मुह में देकर हल्का हल्का काटने बोला कि बिना निप्पल को कटवाए उसके बुर में गुद गुदी  नही आती। वो अब नीचे से कमर उठा उठा कर मुझे चोदने लगी ( मेरी बीवी नीचे से कभी कमर उठाकर मुझे नही चोदती). फिर उसने मुझे दोनो पैर कमर में डालकर जकड़ लिया। मैं हिल नही पा रहा था। वो मुझे चूमने लगी तो मैं पूछा क्या हुआ भाभी तो बोली मेरा होगया थैंक यू। मैं बोला मेरा नही हुआ तो बोली दो मिनट रुको फिर चोदना। फिर पैरों को ढीला की और बोली अब करो। फिर मैं उसे लिप् किस करते करते चोदने लगा और थोड़े देर बाद उसकि बुर को अपने बीज से भर दिया।फिर मैं थैंक यू बोला टी हंसी और खड़ी हुई और अपने जांघो को देखकर बोली कितना बीज निकलता है जांघो में बह रहा है देवरानी बड़ी किस्मत वाली होगी इतना इतना बीज अंदर जाएगा तो मन भर जाएगा। लंबा भी है तुम्हारा औजार पेट तक महसूस होता है।

Sundar Bhabhi Ki Chudai Ki Kahani Sex Stories

उसके बाद मेरे शादी होने तक 4 साल तक उसे अपनी बीवी की तरह प्यार किया और चोदा। वो भी मुझे बहुत प्यार की और पूरी नंगी होकर चुदाई। मेरा लवड़ा चूसकर मेरा बीज पिजाती थी। जबकि अपने पति का लवड़ा 4-6 बार ही चूसी और कभी बीज नही पी। मैं ने पूछा कि मेरा बीज इतने शौक से पिती है तुझे गंदा नही लगता। तो वो बोली कि मैं जब शादी होके आयी तुम्हे मिली तो तुम्हे देखकर और तुम्हारे आदतें देखकर लगा कि काश मेरी शादी इस से हुई होती। पर इस जन्म में ये संभव नहीं था। पर प्यार तो करती थी। इसलिए उसदिन रात में तुम्हारे पास सोई की तुम सो जाओगे तो किस करूँगी। लेकिन तुम बदमास निकले सीधा चोद दिये। बाद में मैने भगवान के सामने तुम्हे भी पति मान कर अपने हाथ से मांग में सिंदूर भर लिया। मैं तुम दोनों भाई की पत्नी हूं। आजभी हम दोनों कभी मिलते है तो किस या लवड़ा चुसई, बुर चटाई या चुदाई समय के हिसाब से होजाती है। वो बोलती है कि मैं भी उसका पति हु मैं जब चाहे उसे प्यार कर सकता हु या चोद सकता हु। उसका छोटा बच्चा मेरी तरह पढ़ाई में तेज है और थोड़ा शक्ल भी मुझसे मिलता है। वो तो थोड़ा मम्मी पे गया है नही तो पोल खुल जाता। दोस्तों उसे लागातार 4 साल तक बीवी की तरह चोदा इसे लवड़ा चाटवाया, बीज पिलाया उसका बुर चाटा, अलग अलग आसनों में चोदा। बहुत सारी सच्ची कहानी है उसकी और मेरी चुदाई की। आप लोग मेरे ईमेल पर अपने कमेंट भेजकर मुझे अपने विचार बताएं। मैं आगे अपनी सच्ची कहानियां भेजूंगा और असो लोग भी अपनी सच्ची कहानी भेजे। ये मेरे चुदक्कड लवड़ा का pic है।

यह कहानी आपको कैसा लगा जरूर बताये हमारा पता है : jayeshstories@gmail.com

Submit Your Story : https://www.sexstorian.com/submit-your-story/

Special thanks to Mr. Jay Sharma. Great job!

3.3/5 - (18 votes)

error: Content is protected !!