मामा की बेटी को बीवी बनाकर चोदा

भाई बहन सेक्स स्टोरी, Sex story, चुदाई कहानी, सेक्स कहानी

मेरे बुर चुदाई के लिए तरसते हुए भाइयों और लावड़ा पुदी में लेकर चुदने के लिए तरसती हुई भाभियो और सालियों, सभी चुदास लोगो का मेरे खड़े लंड से लैंडवत सलाम। मेरी ये तीसरी कहानी है जो सच्ची घटना है। मैं जितनी भी कहानियां लिखूंगा वो सभी सच्ची घटना ही लिखुंगा। मै गाँव मे रहकर पढ़ा लिखा हु वहाँ पर चुदाई आपस मे सहमति से लोग करते है एक दूसरे का राज जानते है पुरुष एक दूसरे से और औरतें एक दूसरे से चुदाई को लेकर मजाक करते है। चूकि सबका किसी न किसी से चुदाई चलता है बहुत बड़ी बात नही होती। आप जो कहानी में पढ़ते होंगे तो लगता होगा सब झूठ है लेकिन यकीन मानिए इस से भी ज्यादा चुदाई होती है दूसरे से बच्चा भी पैदा होजाता है पता भी नही चलता पति को और रिश्तों में चुदाई सदियों पूरानी बात है। साली और भाभी, जीजा और देवर में चुदाई के रिश्ते जबरदस्ती बदनाम है जबकि समाज ने इन रिश्तों में चुदाई को जरूरतें पुरी करने के लिए थोड़ा छूट दिया है। लेकिन इस से ज्यादा भाई- बहन, चाची भतीजा बुआ भतीजा मौसी और मौसा, फूफा ये सब रिश्तों में ज्यादा चुदाई होती है क्योंकि इन रिश्तों में मिलना आसान होता है और कोई शक भी नही करता – लेखन (जय शर्मा) की बात से सेक्ससटोरियन भी पूरी तरह सहमत है .

Bhai Behan Ki Chudai
Bhai Behan Ki Chudai

जय शर्मा जी की पिछली कहानी को पढ़ने के लिए क्लिक करें  :

Antarvasna Bhai Bahan chudai

अब मैं आपको बिल्कुल सच्ची कहानी बताता हूं जो आज से 25 साल पहले की है। हमारा परिवार गांव के जमीदार है और वहाँ हमारे पूरे परिवार के 30 घर है बाकी 50 घर हमारे यहां काम करने वालों के है। तो हम लोग या तो रिश्तों में या फिर नौकर नौकरानी के साथ चुदाई कर सकते,लेकिन उसमें बदनामी होता है। ऐसे में रिश्ते में चुदाई ही ठीक है। तो ये कहानी मेरे चाचा जो कि मेरे पिता के चचेरे भाई की है। वो इतना सीधा साधा है कि वो चुदाई के बारे में सोचता भी होगा यकीन नही होता। लेकिन वो इतना मादरचोद है कि मुझे 6थ क्लास से ही लावड़ा घोटना वही सिखाया और मुझे चुकी मैं छोटा था तो उनकी बहनों भाभियो सब का कपड़ा बदलते या नहाते वक्त दूध और बुर देखने का काम दिया था। फिर मुझे पूछता था कि किसका दूध कैसे है किसकी पुदी कैसी है, पुदी में बाल था कि साफ था और मेरे सामने लावड़ा घोटकर बीज निकलता था और फिर मेरा छोटा सा नुंनी को भी घोट ता था।

भाई बहन की चुदाई की कहानियाँ

अब उसकी चुदाई की बात बताता हूँ। उसके मामा की लड़की जो 12th पास की थी वो गर्मी की छुट्टियों में उनके यहाँ मतलब हमारे गांव आई वो सांवली लेकिन सेक्सी थी मैं भी उसके नाम से लावड़ा घोट ता था तब मैं 16 का था। वो हैम लोगो से गांव में लड़का लड़कियों की चुदाई की ही बात करती थी। मैं ये बात चाचा को बताया कि लल्ली सेक्सी है औए लड़का लड़कियों की चुदाई की बात करती है। तो उसदिन से उसे वो चोदने का प्लान करने लगा। गर्मी के दिनों में गांव में लोग दोपहर में 2-3 घंटे सो जाते है। ये भी लास्ट रूम में सोता था तो अपनी उस बहन को बोला कि दोपहर में उसी के रूम में गपशप करेंगें और नींद आया तो सो जायेंगे। अब वो एक ही बेड पर सो कर बात करते थोड़ी गांव के दूसरे लड़का लड़की भाभी और भाई लोगो की चुदाई की भी बात करने लगे। बात करते दोनो चुदाई के लियड गर्म होजाते थे पर एक दूसरे से चुदाई के लिए आगे नही बढ़ पाते थे। फिर उस मादरचोद चाचा ने दिमाग लगाया वो अपनी बहन के आने का इंतेज़ार करने लगा ओर से दूर से असते देखकर सोने की ऐक्टिंग करते हुए अपने लावड़ा को थोड़ा चड्डी से बाहर निकाल दिया। उसकी बहन आयी और उसके लावड़ा को देखने लगी। ये तो जग रहा था तो बहन देखरहि सोच कर उसका लावड़ा और कड़ा होने लगा1 फिर भी वह सोने की एक्टिंग करता रहा। लल्ली दो तीन बार भाई भाई बोली ये चुप रह फिर वो दरवाजा बंद कर इसके बाजू में लेट गयी।

अभी 5 मिनट ही हुए थे कि लल्ली भी सोने की एक्टिंग करते हुए इसके लावड़ा के ऊपर हाथ रख दी। ये मादरचोद नीचे तरफ से चड्डी को और नीचे सरक दिया और अब तो इसका लावड़ा का आधा हिस्सा बाहर था। फिर इसने हिम्म्त की और लल्ली के हाथ के ऊपर हाथ रख दिया फिर थोड़ा देर बाद उसके हाथ सर अपने लावड़ा कप सहलवाने लगा। अब दोनों भाई बहन को मालूम था कि दोनों जग रहे है और दोनों गर्म होगये। फिर इसने बिना कुछ बोले अपना हाथ उड़के स्कर्ट के अंदर ले जाकर उड़की पुदी को चड्ढी के ऊपर से सहलाने लगा। तो लल्ली जोर जोर से सांस लेते हुए इससे लिपट गयी। फिर क्या था ये उसका दूध दबाने लगा और पूरा नंगा होकर लल्ली से लावड़ा सहलवाने लगा। दोनो गर्म होगये तो लल्ली ने अपना चड्ढी खुद निकल काट स्कर्ट ऊपर कर ली। भाई ने देखा कि उसकी बहन की बुर में छोटे छोटे बाल है और पुदी बिल्कुल अपनी बुआ याने मदरचोद भाई के अपनी मम्मी के जैसा है। फिर भाई ने अपने लल्ली बहन के गीली पुदी मे डालने लगा पुदी थोड़ा टाइट था लेकिन उस से खून नही निकला मतलब चुदी हुई थी। बस फिर क्या था अपनी जवान बहन को चुम चुम कर और उसके निप्पल्स को चाट कर चोदने लगा। बहन भी अब नीचे से कमर हिला कर अपने भाई को चोद रही थी।

Bhai Behan Ki Chudai Ki Kahani

बहन तड़पने लगी और अपने बुर का पानी छोड़ दी पर भाई का बीज नही गिरा था तो उसने अपनी बहन के दोनों पैर को अपने कंधे के ऊपर लेकर बेदर्दी से सांड की तरह चोदने लगा और बल्ली के कान में बोलने लगा तुझे मैं बहुत दिन से चोदना चाह रहा था लेकिन बहन होसोच कर बोल नही रह था तो लल्ली बोली मैं दिन में दो बार बुर सहलाती हु बहुत चुदने का मन होता है। बाहर किसी से चुदने में बदनामी होगी। इसलिए मैं छोटे भाई बाबू से चुदने सोच रही थी क्योंकि आप चुप और शांत रहते है। पर आपने ही अपनालावड़ा दिखाकर मुझे इशारा कर दिया मैं जान रही थी आप जग रहे हो। मुझे अब रोज चोदा करो भाई मैं बिना चुदाई के पागल हो जाऊंगी। फिर भाई ने अपने बीज को अपनी बहन के बुर में गिरा दिया। दोनो फिर कपड़ा से अपनी पुदी और लावड़ा को साफ कर सोगये। शाम को सुरेश गर्भ निरोधक की 30 गोली लॉकर रख लिया और अपनी बहन को रोज एक गोली खाने बोला। अब दोनों भाई बहन रोज दोपहर में पति पत्नी की तरह नंगा होक एक दूसरे के बदन से खेलते और चुदाई करते। कभी कभी रात में भी गायो का अलग से घर बना था

Bhai Behan Ki Chudai

उसमें जाकरखड़े चुदाई करते थे। मैंने उसे बोला कि उसकी पुदी मुझे भी दिला दो चोदने तो लल्ली बोली कि मैं अभी छोटा हु। ए कहानी सुरेश ने मुझे खुद बताई और उसदिन अपना लावड़ा घोटा और अपने हाथ से मेरा भी लावड़ा घोटा। येएकदम सच्ची घटना है वो भीगांव के परिवार की। जो लोग भाई बहन की चुदाई की कहानी को झूठ समझते है वो किसी और दुनिया मे जी रहे हैं।दो साल बाद मेरी मौसी की लडक़ी मेरे यहाँ आई। मैं उसके साथ सोया एओ 11th में थी और मैं 10th में था। उसने रात में मुझे सोया समझकर मेरे हाथ से अपना स्तन दबाये तो मैं उसके ऊपर पीछे से पैर लादकर सो गया और मेरा लावड़ा उसकी गांड में चिपका दिया हालांकि चोद नहीपाया। नही तो मैं भी बहनचोद बन जाता। तो ये सच्चाई है कि भाई औरबहन के बीच भी चुदाई होती है।आप सभीइस सच्ची चुदाई की घटना को पढ़ेअपने लावड़ा घोट कर बीज निकाले और पुदीसहला सहला कर पानी निकाले। आप लोगो को भी अपने भाई या बहन से चुदाई का मन है तो कोशिश जरूर करे।

यह कहानी आपको कैसा लगा जरूर बताये हमारा पता है : jayeshstories@gmail.com

Submit Your Story : https://www.sexstorian.com/submit-your-story/

Special thanks to Mr. Jay Sharma. Great job!

3.3/5 - (21 votes)

error: Content is protected !!