Mama Ki Beti Ki Chut Chudai – मामा की बेटी की चुदाई Hindi Sex Story

Mama Ki Beti Ki Chut Chudai – मामा की बेटी की चुदाई, Hindi Sex Story

में हर्ष आज आपको एक दम सच्ची सेक्स की कहानी बताने जा रहा हूं जो मेरे साथ 2021 जून में हुई थी..शनिवार मैं अपने गांव अपने मामा के घर गया हुआ था,जब मैं वहा पहुंचा तो सब खुश थे।मेरे मामा को 2 बच्चे है एक नीरज(बदला नाम)और एक श्वेता(बदला नाम)..नीरज काफी छोटा है तकरीबन 6/7 साल का…पर श्वेता 17 साल की है..मैं 2 साल बाद मामा के घर गया था और श्वेता को भी 2 साल बाद ही देखा था तो मेरी आखें उसको देख के फटी ही फटी रह गई

उसके चूचे काफी बड़े और एक दम गोलाकार के हो गए थे,उसकी जांघें भी मस्त हो गई थी और कमर तो मतलब क्या ही बोले..अब मैंने खुद को काबू किया मामा मामी के पैर छू कर अपना समान रखा और सीधा नहाने चल दिया…नहाते वक्त मैने नोट किया की मेरी बहन श्वेता की ब्रा पैंटी वहा पड़ी है…तो मेरे मन में लालच आया और मैं उसकी पैंटी सूंघने लगा..उसकी पैंटी सूंघने ही मुझे अलग सी खुशबू आई और मेरे रोंगटे और लंड दोनो खड़े हो गए…

मेरा हाथ अपने आप मेरे 8 इंच के लोड़े पे चला गया और मैं इतना मगन हो गया की 2 मिनट में ही मेरा वीर्य निकल गया जो मैने उसकी ब्रा पे झाड़ दिया..अब मैं नहा के बाहर आ गया..मैं सीढ़ियों से नीचे आ रहा था तो मैंने देखा कि मेरी बहन टॉवल ले कर ऊपर नहाने जा रही थी तो मुझे पता चला कि उसने वो ब्रा नहाने के बाद पहननी थी..वो ब्रा पिंक कलर की थी जिसपे मैं अपना माल झाड़ आया। मैं नीचे आ के चुप चाप खाना खाने बैठ गया..मामा के घर में 3 कमरे है और फिर तीसरे कमरे में जा के सो गया ।

शाम को जब मैं उठा तो मैने देखा मेरी ममेरी बहन श्वेता के चेहरे पे एक अलग सी स्माइल थी मैं कुछ समझा नहीं..फिर मैं टीवी देखने बैठ गया..अब रात के खाने के समय मेरी बहन श्वेता ऊपर वाले बाथरूम में थी तो मैं इसके कमरे में उसकी खाने के लिए बुलाने गया तो मैंने देखा की अलमारी खुली है मैने वहा देखा तो उसकी ढेर सारी ब्रा पेंटी मेरी आखों के सामने थी फिर मैने अलमारी का दूसरी साइड खोला तो नीचे एक लॉकर था लाकर खोला तो उसमें (सेक्स टॉय वाइब्रेटर या नकली लंड) पड़े थे वो भी 2…मैं फटाफट बाहर आ गया..

अब मैं सोचता रहा की श्वेता को कैसे चोदा जाए तो मेरे पास एक आइडिया आया..मैने कहा रात को इसको लंड दिखायेंगे ।अब रात को मामी आई और बोली तेरा भाई नीरज आज तेरे साथ सोएगा..एक तो मुझे ऐसा कमरा मिला था जो घर के बिलकुल आखरी कोने में था..ऊपर से नीरज मेरे साथ सो रहा था…तो मैंने ज्यादा कुछ न सोचते हुए कमरे की लाइट बंद की ओर से गया…करीबन 1/1:30 बजे मेरी आंख खुली तो मैं जान करके नीचे वाले टॉयलेट में पेशाब करने गया जहा का दरवाजा सही नही था और जाते मैने गौर किया की मामा के रूम से कुछ आवाज आ रही है ।

मैं देखने गया तो गेट हल्का सा खुला था मैंने देखा तो मेरे होश उड़ गए,48 साल के मेरे मामा का लंड भी मेरे जितना ही 8 इंच का था और वो मामी की चूत को ताबड़तोड़ चोद रहे थे…मामी भी मामा को हल्की हल्की गालियां दे रही थी ‘चोद साले मेरी चूत …चोद ले रख दे भोसड़ा बना दे इसका…अपने माल से पानी पानी कर दे इसको…ये सुनके मामा को जोश आ गया उन्होंने धक्के तेज किए और अपना माल मामी की चूत में गिरा के सो गए..मामी भी नंगे बदन पे चद्दर ओढ़ कर सो गई ।

अब मैं सीधा टॉयलेट चला गया और मैं ये नहीं देखा की श्वेता दीवार के पीछे है…मुझे लगा की रात में कौन ही देखेगा तो मैने गेट खुला छोड़ दिया और अपना लंड हाथ में लेकर मूतने लगा..अब मुझे बाहर से बिलकुल हल्की आवाज आई मैंने तिरछी आंख से देखा तो श्वेता मुझे देख रही थी अब मैंने जान कर के लंड उसको पूरा दिखाया ऊपर नीचे किया और flush किया तो वो भाग गई

अब अगले दिन भी मैने यही किया लेकिन इस दिन मुझे पेशाब नही आया तो मैं मामी की चुदाई देखने में लग गया..मुझे किसी के आने की आवाज आई लेकिन मैं पीछे नहीं मूड़ा और देखता रहा मुझे पता था श्वेता ही होगी अब मैने मामा मामी की पूरी चुदाई देखो और फिर लंड निकाल के हिलाने लगा..जैसे ही मामा झड़े और मामी से गई मैं पीछे घूमा और देखा तो वहां श्वेता दीवार के सहारे खड़ी हो कर अपनी चूत में उंगली कर रही थी ।

उसकी आंखें बंद थी तो मैं अपना लंड बाहर निकाल के उसके पास गया,उसकी चूत में जहा उंगली थी वहां अपना लंड लगाया..उसके हाथो का स्पर्श होते ही मेरे लंड में कम्पन हुई और वो आखें खोल के पीछे मुड़ गई। मैने धीरे से उसके कान में बोला मुझे पता है तेरे अंदर भी हवस की आग है तभी तू कल मुझे पेशाब करते समय देख रही थी..कल जब मैं मामा मामी की चुदाई देखने आया तो मैंने तुझे छुपते हुए देख लिया और मुझे ये भी पता है कि तू (नकली लंड) से अपनी प्यास मिटाती है ।

अब मैने अपने होठ उसके होठ पे रख दिए और हमारा चुम्बन शुरू हुआ,उसकी जीभ मेरी जीभ से मिलने लगी। मैं चूमने के साथ साथ उसके बूब्स दबाने लगा.. उसका एक हाथ भी मेरे लोड़े को हिलाने लगा..अब मैने उसको उठाया और ऊपर वाले बाथरूम में ले गया।वहा उसकी पैंटी को उसके मूह में ठूस दिया और उसकी सलवार उतार फैंकी। अब उसकी गुलाबी पैंटी मेरे सामने थी मैं उसकी जांघों को चाटने लगा वो आह आह करने लगी अब मैंने उसकी कमीज उतार दी और उसकी गुलाबी ब्रा को ऊपर से चाटने लगा

उसके निप्पल कड़क होते हुए तो मुझे महसूस हो गया मैने फटाफट उसकी ब्रा उतारी और उसके चूचों को बच्चो की तरह चूसने लगा। वो दर्द से कर्राही आह इतने में मैंने काट लिया और वो बोली आराम से कही भागी नहीं जा रही हूं। तो मेने उसकी नाभि को चाटा और जांघो को चाटने लगा। उसकी चूत ने रस छोड़ दिया और वो मैं चाट गया। फिर मैंने फटाफट अपना कच्छा उतारा और फिर मेरा लंड हिलाने लगी।

मैने कहा मुंह में लोगी उसने मना कर दिया तो मैने जिद्द नही की। मैने उसको लिटाया और उसकी चूत चाटी थोड़ी देर बाद वो झड़ गई अब मैंने बाथरूम के box से तेल की शीशी ली और उसकी चूत में अच्छी तरह से तेल लगा दिया और अपने लंड पर भी तेल लगा लिया । अब मैंने उसकी पुरानी गंदी ब्रा उसके मूंह में डाली और एक जोर का झटका दिया उसके आसूं निकल गए और मैंने लंड को अंदर ही राखा उसकी आंखें बंद हुई तो मैंने हल्का हल्का पानी फैंका

अब वो होश में आई और गांड उठा के चुदने लगी मेरा पहली बार था तो मेरा काम जल्दी हो गया और वो भी झड़ गई , मेरा लंड पूरा लाल था तो मैंने साफ किया और फिर एक राउंड और किया और इस बार अपना माल उसके मुंह में गिरा दिया लेकिन उसने थूक दिया फिर उसके बाद हम 4 बजे के आस पास वापस अपने रूम में आ गए। अगले दिन से मामा रात को मामी की चूत चोदते  और मैं श्वेता की.

स्टोरी ( Mama Ki Beti Ki Chut Chudai – मामा की बेटी की चुदाई Hindi Sex Story ) कैसी लगी, मुझे जरूर बताना ईमेल करके … fukrapanti6666@gmail.com

4.5/5 - (25 votes)

error: Content is protected !!