Bhai Aur Bahan Ki Chudai Kahani सिमी की चूत की चिंगारी

Bhai Aur Bahan Ki Chudai Kahani

सिमी की चूत की चिंगारी

मेरा नाम अंशु है मेरी एज 24 साल है।

मै एक बिल्डर हूं मेरा काम काफी अच्छा है।

ये कहानी तब शुरु हुई जब मामा को अपने गांव में एक कोठी बनवानी थी।
उसने कहा की तुम ही बना दो वैसे तो मै काफी बिजी था लेकिन परिवार का मामला था तो मैंने हां कह दिया।

अब मै सारा प्लांट गिरा दिया नक्शा भी मैने ही तैयार किया था काम शुरु हो गया।
अब मै रोज साईट पर ही रहता मामा का पुराना घर भी बगल मे ही हैं तो मै वही रहता।
कभी कभी अपनी कार से अपने घर चला जाता।
मेरा घर काफी दूर था तो मैं कभी कभी ही जाता।

मैने काम नवम्बर मे शुरू किया था अब दिसम्बर आ गया था।

गांव में इंटर नेट नही चलता था तो सारा दिन तो काम करवाने मे कट जाता लेकिन शाम को मन नही लगता था।
फिर मुझे पता चला की

वही गांव में स्कूल के छत पर इंटरनेट अच्छा चलता है।

स्कूल मेरे साईट के सामने ही था।
तब मै शाम को स्कूल के छत पर चला गया वहां कुछ बच्चे ग्रुप में मोबाइल पर गेम खेल रहे थे।

मै भी अपने मोबाईल में लग गया।
तब उस दिन मेरी नजर स्कूल के पीछे घर पड़ी उसमे एक बहुत ही सुन्दर लड़की झाड़ू लगा रही थी।

उसकी नजरे भी मुझसे मिली, फिर वो अन्दर चली गई।

अब कुछ देर बाद वो लड़की स्कूल के बाउंड्री से आवाज दी।
वो काफी बिंदास आवाज में बोल रही थी, और मुझे बिंदास लड़कियां बहुत अच्छी लगती हैं।

दो लड़के नीचे गए और उसे नीचे उतारा।
दरअसल स्कूल की बाउंड्री स्कूल के तरफ़ 6 फीट ऊंची थी और उसके आंगन के तरफ 3 फीट वो स्कूल मे जलावन वाला उपले (कंडे) पसार रखी थी वोही उठाने आई थी।

अब उसने सारा टोकरी में उठा लिया, टोकरी एक लड़के ने दिवाल पर रख दिया और फिर दोनों ने उसे धक्का देकर दिवाल पर चढ़ा दिया।
अब वो अपने टोकरी उठा घर में चली गई।

जब दोनों ऊपर आए तो,
मैने लौंडो से पुछा सारे मेरे ममेरे भाई ही थे।

मै: क्या बेटे खूब मजा लूट रहे हो गोद मे उठा कर।
एक बोला:(शर्मा कर) अरे कहा भईया खाली दिवाल पर चढ़ाते हैं कि।
मै: नही बेटे मैने देखा की तुम उसकी गुडेदार गान्ड को पकड़ मजे ले रहे थे।

दूसरा बोला: अरे वो तो हो ही जाता है।
अब उनसे मैने सारी डीटेल्स ली।
उन्होने बताया कि उसका नाम सिमरन है, उसके घर में 2 भाई 1 एक बहन और उसके मां बाप रहते हैं।
उसके बड़े भाई की शादी हो गई है उसके दो बच्चे हैं जो नानी घर मे रहते हैं,। उसका छोटा भाई ग्रुप डी मे जॉब करता है और बडा भाई बाहर रहता है बाप शराबी है और दूध बेचता है उसके घर 4 गाय है।

मै: कब से मजे ले रहे हो।
तीसरा बोला: अभी इसी ठंड से उसके आंगन मे स्कूल की छाया पड़ती है इसलिए यहां पसारने आती है।

मै:  तुम लोगों ने कही चोद तो नही दिया उसे।
एक बोला: अरे कहा भईया उसके घर वाले काफी बदमाश हैं इसलिए कोई उसकी तरफ नही देखता।
मै: अच्छा जी हम भी देखते हैं।
चौथा बोला: लगता है भईया का दिल आ गया है पियकवा के बेटी पर।
दूसरा बोला: अगर आपको भी मजा लेना है तो हमारी तरह सुबह शाम यही आ जाया करो ।

मै सुबह आ गया हल्की धूप निकली थी
कुछ देर इंतजार करने के बाद वो आंगन मे दिखी।
सुनहरी धूप में वो काफी हसीन लग रही थी। मै उसे देखे जा रहा था।
एक बोला: देखो मत नीचे जाओ। कुछ देर में वो आ जायेगी।
मै नीचे जा स्कूल के बरामदे मे बैठ गया।
कुछ देर में वो आ गई, मुझे वो हल्की सी दिख रही थी।

वो दीवार पर टोकरी रख आवाज लगाती है ऊपर।
ऊपर से आवाज आती मै नही आ रहा नीचे कोई होगा उसे बोलो।
फिर एक छत पर से मुझे देखते हुए आवाज देता है कि भईया उसका टोकरी उतार दो।

मेरी नजर उस पर पड़ती है, । मै उसका टोकरी उतार देता हूं फिर वो पैर लटका कर बैठ जाती है मै उसके पैर पकड़ उसे बांहों मे उठा उसे निचे उतार देता हूं उसकी कोमल गांड़ छू मेरा शरीर मे करंट सा लगा था।

अब वो कंडे पसारते हुए।
सिमी: आप फलाने के यहां के हैं ना। मेरे मामा का नाम लेते हुए।
मै: हां मै उनका भांजा हूं।
सिमी: अच्छा आप बड़ी दीदी के बेटे हैं।
मै: हां।
सिमी: आप ही इनका घर बनवा रहे हैं।
मै: हां।
सिमी: अच्छा घर बनाइएगा।
मै: अब आप ने बोल दिया है तो अच्छा ही बनेगा।

अब वो जाने लगती है तो उसे गोद उठा दीवार पर चढ़ा देता हूं।

अब लौंडे मुझे लूटने लगे।

अब सुबह शाम ऐसे ही उसे चढ़ाने उतारने लगा उससे बातें करने लगा।

एक शाम को मै उसे चढ़ा दिया और छत पर आ गया मोबाइल चलाने अब अंधेरा हो गया तो लड़के चले गए।

कुछ देर बाद मै नीचे आ कोने मे सुसु करने गया तो देखा कि वो दीवार पर बैठ इधर ही देख रही है।
वो करीब 20 फीट दूर थी।
मै फिर भी मूतने लगा।
मूत कर मैने पैर उचका देखा तो उसके आंगन मे उसका बाप दूध दूह रहा था।

मै उसके नीचे से निकलते हुए उसकी गांड़ पर चुटी काट लिया वो पीछे देख मुस्कराने लगी मै वही दिवाल के नीचे बैठ गया।
कुछ देर बाद उठ कर देखा तो उसका बाप साइकल पर दूध का कंटेनर लोड कर निकल रहा था।

जब वो निकल गया तो मैने इधर उधर देखा कोई नही था मैने उसके कमर मे हाथ डाल उसे नीचे उतार लिया। और उसके मुंह पर हल्के से हाथ रख दिया।

सिमी: क्या कर रहे हो कोई देख लेगा।
मै उसे गोद मे उठा स्कूल के अन्दर ले जाता हूं एक रूम का दरवाज़ा खुला ही रहता था वहा कुछ टूटे हुए बेंच थे।

वहा लेकर गोद मे बैठ जाता हूं।
सिमी: क्या कर रहे हो, छोड़ो मुझे.(वो मुझसे हल्के हल्के छुड़ाने का प्रयास करने लगी।)

मै: क्या हुआ लड़कों से तो खूब अपने अंग मसालवा मजे लेती हो, अपनी उम्र के लोगों से डर लगता है।
सिमी: (हस्ते हुए) वो मादरचोद सालो का अभी खड़ा भी नही होता होगा।
मै: रानी गलत फहमी में मत रहो किसी दिन चोद देगें ना तो टांके लगवाने पड़ेंगे।

अब मैने उसे छोड़ दिया लेकिन वो जा नही रही थी।
तो मैंने उसके गर्दन को सहलाते हुए उसे आई लव यू कहा।

वो चुप हो गई।
मै: क्या हुआ।
वो रोने लगी।
मै: हे, क्या हुआ अगर मैने कुछ गलत कह दिया तो बोलो इसे रो मत।
वो मेरे सीने से लग गईं।

सिमी: देखो मेरे साथ ये सब गलत काम मत करो, मै कही मूंह दिखाने लायक नही रहुंगी, मुझसे शादी कौन करेगा।

मै: अरे मै कहा कुछ कर रहा हूं, शादी तो मै ही तुमसे कर लूं। अगर तुम हां बोल दो।
सिमी: मेरे हां बोलने से क्या होगा मेरे परिवार से पूछना पड़ेगा।

मै: किससे पूंछू मै, तुम्हारे पापा से।
सिमी: नही, मेरे पापा कभी नही मानेंगे, तुम्हारे मामा और मेरे पापा के बीच एक बार झगडा हुआ था। मेरा भाई हां कर दे तो मै हां कर दूंगी। तुम मेरे भाई से पूछ लो सिर्फ वोही मुझे प्यार करता है घर मे बाकि सब तो……।
मै: अभी पूछ लेता हूं लाओ नंबर।
वो: अभी नही बाद में।( वो मेरे सीने से लग जाती है।)

मै उसके माथे को चूम लेता हूं उसके गाल को चूमते हुए उसके गुलाब के पंखुड़ी से होंठों को चूम लेता हूं उसकी पतली नाक चूम लेता हूं।

वो शर्मा जाती है, मै उसके कानो से होंठ लगा देता हूं उसके गर्दन चुसने लगता हूं,।
मै: सिमी रानी, तुम दूध से नहाती हो क्या तुम्हारा पुरा शरीर दूध सा महक रहा है।
सिमी: अच्छा नाम दिया है सिमी, अब दूध का काम ही करूंगी तो गुलाब की खुसबू कहा से आयेगी।
अब मै उसके चूंचे के ऊपर सीने को चूमने लगा वो आह आह करने लगी।
उसके स्वेटर के बटन खोल उसके सूट के ऊपर से उसके चूंचे मुंह से लगा लिया।
उसके नाभी चुसने लगा उसके पेट चूसा।
उसकी चूत पर कपड़ो के ऊपर से मूंह लगा दिया। वो सिहर गई।
उसने मुझे ऊपर उठा मेरे होंठ चूसने लगी।

सिमी: अब छोड़ दो काफी देर हो गई है।

मै उसे एक लम्बा स्मूच कर जाने देता हूं ।
उसे गोद मे उठा उसे दिवाल पर चढ़ा देता हूं।

अब अगली सुबह स्कूल पर सभी लड़के थे मै भी पहुंचा था।

एक बोला: भईया ने तो हमारा पुरा मजा ही खत्म कर दिया।
मै: बेटे अब भाभी बनाऊंगा उसे तुम्हारी, अब गलत नजर से छूना मत।

दूसरा बोला: अरे मुस्कील है काफी उसका बडा भाई बहुत बदमाश है, वो और उसका बाप नही मानेगा।
मै: कहा रहता है वो।
एक बोला: हैदराबाद।
मै:ठीक है।
कुछ देर मे वो टोकरी लेकर आ गई। मैने उसे उतार दिया। अब मै उससे बात कर रहा था लेकिन वो कुछ नही बोल रही थी।
मै: क्या हुआ बात क्यूं नही कर रही हो, कोई गलती हो गई क्या।
वो कुछ नही बोली।
अब वो जाने लगी तो मैने उसे उठा दीवार पर चढ़ा दिया।

मुझे लगा नाराज हो गई।
फिर शाम को आया तो वो अब भी बात नही कर रही थी।

मै: नाराज हो क्या बात क्यूं नही कर रही हो।
वो कुछ नही बोली और कंडे उठाती रही।
मै: लगता है तुम्हे मुझ पर विश्वास नहीं है, तुम्हे लगता है कि मै तुम्हारा फायदा उठा तुमसे शादी नही करुंगा।
ठीक है तुम्हे भरोसा नहीं है तो मै चलता हूं।
मै जाने लगा।
वो मेरे तरफ़ कंडे फेकती है।
सिमी: चले जाओगे तो मुझे ऊपर कौन चढ़ाएगा।

मै: अगर मुझ पर भरोसा है तो आज शर्ट पहन कर रहना।
वो कुछ नही बोलती है।

मै उसे दीवार पर चढ़ा।
अंधेरा होने का इंतजार करने लगता हूं।

1 घण्टे बाद बाद वो फिर वही आकार बैठती हैं, उसका बाप दूध लेकर चला जाता है।

मै उसे नीचे तिर लेता हूं और उसे उठा कर वही ले आता हूं।।
उसने स्वेटर के अन्दर शर्ट पहन रखा था।
मै उसे गोद मे बिठा बेंच पर बैठ जाता हूं।

मै:क्या हुआ हुआ बात क्यूं नही कर रही थी। अगर तुम्हे प्यार नही है तो बोल दो।
सिमी मुझे किस करने लगती है, मैं उसके स्वेटर खोल उसके शर्ट के बटन खोल देता हूं उसके गाल गर्दन गले को चुसने लगता हूं। फिर उसके पीठ पर चूमने लगता हूं।।
हल्की रोशनी में मुझे उसकी पीठ पर चोट के निशान नजर आते हैं।
मै: ये क्या हुआ है।
वो कुछ नही बोलती और मेरे सीने से लग रोने लगती है।

मै: (उसके गर्दन पर चूसते हुए) क्या हुआ है बोलो।
सिमी:(रोते हुए) कल जाने मे लेट हो गया तो पापा ने मारा।
:(मुझे बहुत गुस्सा आया।
मै:(उसे चुप कराते हुए) और किसी ने मारा क्या।
सिमी: हां भाभी ने भी मारा।

मै: सॉरी मेरे वजह से तुम्हें मार खाना पड़ा।
सिमी: नही वो लोग तो मुझे मारते ही रहते हैं। मेरे लिए कोई नई बात नही है।

मै उसके पीठ के चोट को चूम लेता हूं।
मै: लाओ तुम्हरे भाई का नंबर, मुझे अभी तुमसे शादी करनी है।
वो उसका दुसरे नंबर का भाई था जो उससे बडा था और ग्रुप डी मे जॉब करता था।

मै उसके भाई को फोन लगाता हूं।
मै: हां मैं अंशु बोल रहा हूं मुझे आपकी बहन से प्यार है और उससे शादी करना चाहता हूं।

पहले तो वो गाली देने लगता है।
मै उसे समझाता हूं कि मेरे बारे मे पहले सब पता कर लो। लो अपनी बहन से बात करो।
सिमी उससे बात करती है वो रोने लगती है।
मै: मेरे बारे मे सब पता कर 1 घण्टे में फोन करो।
और सिमी को मारा है तुम्हारे बाप और भाभी ने इसकी जिंदगी नरक बनी हुई है यहां तुम इसे यहां से ले क्यों नही जाते।
फिर फोन रख मै सिमी को प्यार करता हूं और उसे घर भेज चला आता हूं।

रात को सोते समय उसके भाई का फोन आता है कि मैने सब पता किया है तुम मेरी बहन के लिए ठीक लगे मुझे। लेकिन मेरा बाप भाई इस शादी के लिए नही मानेगा।
मै: ठीक है कुछ करता हूं मै।

अब मैने अपने एक आईपीएस दोस्त को फोन कर उसके बड़े भाई को हैदराबाद में ही किसी पुराने केस में उठवा लिया।

अगले दिन मैने अपने लेवर को पैसा दिया और एक लेवर को जो उसके बाप का दोस्त था उसे 200 रुपए ज्यादा दे दिए मै जानता था कि ये उसके साथ जाकर शराब जरुर पियेगा।।

कुछ दिन पुलिस की गस्त ज्यादा थी तो उसने शराब नही पी।

मै अब उसकी भाभी को सबक सिखाने का सोचा।
मैने लौड़ों से पुछा।
मै: बेटे इसकी भाभी के बारे मे कुछ बताओ।
एक बोला: उसका नाम कुसुम है।
दूसरा बोला:अरे मुझे लगता है ये सोनू चाचा से फसी है, जब एक दिन भोर मे मै आर्मी के लिए दौड़ने जा रहा था तो इसे अपने खलिहान से निकलते देखा, पहले मैंने सोचा हगने आई होगी, फिर मुझे ध्यान आया कि सोनू चाचा का झोपड़ा खलिहान में ही है।

सोनू मेरा चचेरा मामा है उसकी उम्र 30 वर्ष होगी उसकी शादी हो चुकी है मेरी और उसकी अच्छी बनती है।

मै एक शाम उसके साथ बैठा था।
मै: क्या मामा अकेले अकेले खा रहे हो, मुझे भी खिलाओ।
मामा: क्या भांजे चल घर जितना खाना हो खा लेना।
मै: मै घर पर तो मै खाता ही रहता हूं मामा, तुम तो वो खिलाओ जो तुम अकेले अकेले झोपड़े मे खा रहे हो।
मामा:(सकपका गया) क्या बोल रहे हो भांजे, मै कहा कुछ खाता हूं झोपड़े मे।
मै: बनो मत मामा अब मै भी भोर में उठने लगा हूं।
वो समझ गया।

मामा: अरे तू तो बडा हो गया भांजे इधर उधर नजर मारने लगे हो।
मै: अरे कहा मामा बड़ा तो हो गया हूं पर अभी तक कुछ खाने को नही मिला।
मामा: अरे मेरा भांजा होकर ऐसी बात करता है चल तुझे मै एकदम फ्रेश माल खिलाता हूं।
मै: अरे कहा मामा फ्रेश माल बाद में खिलाना अभी भूख लगी है तो जो तुम खा रहे हो वही खिला दो।
मामा: अरे भांजे की बात मै कैसे टाल सकता हूं । तू रूक अभी मै जुगाड करता हूं।
उसने कही फोन किया स्पीकर पर डाला।
मामा,: हां रानी आज रात आ जाना।
उधर से आवाज आई नही आज मेरा ससुर घर पर ही है और पी भी नही रखी है आज नही आ सकती।

अगले दिन शाम को मैने अपने लेवर को फिर पैसे दिए आज उसने जा कर अपने दोस्तयानी के सिमी बाप के साथ शराब पी।
बिहार में दारू बन्द थी तो मैने चुपके से पुलिस को फोन कर दिया की फलाने जगह पर दो लोग शराब पी रहे हैं।

तो रात को मामा ने कहा कि आज तैयार हो जा भांजे।
मै उसके साथ झोपड़े मे आ गया।

वहा उसने पुरा गदा रजाई तेल सब इंतजाम कर रखा था।

रात 10 बजे कुसुम का फोन आया कि आ रही है।

ठंड काफी थी कुहासा लगना शुरू हो गया था ।
मै झोपड़े के बाहर छुप गया।
कुछ देर में वो आ गई।
मामा ने उसे अन्दर भेज दिया मै छुप कर देख रहा था।

फिर मामा ने मुझे इशारा किया मै अन्दर गया अन्दर लाइट बंद थी बिल्कुल अंधेरा था कुछ भी नही सूझ रहा था।

कुसुम: आज ठंड बहुत है बाप।
मै कुछ नही बोला और रजाई के अन्दर घुस सीधा उसके चूत पर हाथ रख दिया।
कुसुम: आह ई तो हरदम उसी मे घुसल रह है।

मै अब उसकी साड़ी उठा उसकी चूत सहला दिया।
उसने पैन्टी नही पहनी थी।
उसके चूत पर बाल उगे हुए थे।

उसे मसलने लगा वो आह आह करने लगी।
अब मैंने अपना लन्ड निकाला उसकी चूत पर रखा और उसके मुंह पर हाथ रख एक बार में ही पुरा लन्ड घुसा दिया।

वो चीखने लगी आह।
मेरा बडा लन्ड घुसने से वो समझ गई कि मामा नही कोई और है।
कुसुम:आह कौन हैं जी.
वो छुटने लगी हल्ला करने लगी।
उसकी आवाज सुन मामा अन्दर आ गया और लाइट ऑन कर दिया।
मुझे देख वो सक पक्का गई। शर्मा गई।
अपना चेहरा छुपा लिया।
मेरा लन्ड  उनकी चूत से निकल गया उन्होने अपने पैर मोड़ लिया।
मामा: (उसके बोबे सहलाते हुए)क्या हुआ कुसुम रानी, बोला था ना कि आज स्पेशल मजा दूंगा।
कुसुम: छोड़ो मुझे जाने दो,मुझे क्या रण्डी समझ रखा है जो किसी से चूदवा रहे हो।

मामा: अरे रानी इसने कभी किसी को नही चोदा तो मैने सोचा तुम कुछ सीखा दो इसे।

इतना ही चुदवाने का शौक है तो अपनी बीबी या बहन को क्यों नहीं चुदावया।
मामा: मै तो इसे फ्रेश माल दिलाने वाला था, अपनी साली को इससे चुड़वाता, लेकिन इसे तुम पसंद आ गई।

मामा: अरे इसे पहले अच्छे से देख तो लो रानी फिर चाहे मना कर देना।

उन्होने चेहरा उठा मुझे देखा।
कुसुम: अरे ये तो उनके भांजे हैं।

मैने अपना शर्ट उतार अपनी जिम वाली बॉडी दिखाई।

मामा: अब बोलो रानी अब भी मना करोगी।

कुसुम शर्माते हुए नही,
तो फिर हो जाओ शुरु आज मै तुमलोगो की चुदाई देखूंगा।( इतना बोल मामा उसके स्वेटर ब्लाउज खोल ऊपर से नंगा कर देता है।

मै उसके चूंचे चुसने लगता हूं।
काटने लगा पीने लगा।

उसकी साड़ी उठा उसकी चूत मसलने लगा वो आह आह करने लगी फिर मैने अपना लन्ड उसकी चूत पर रख दिया।

कुसुम: एक ही बार में मत डालना।

मैने धीरे धीरे लन्ड पुरा घुसा दिया और चोदने लगा हमारे ऊपर मामा ने कम्बल डाल दिया।

अब मै उठ गया और उसे पीछे घुमा लेटा दिया डोगी स्टाईल में चोदने लगा और उसके बड़े बड़े गांड़ दबाने लगा।

उसके गान्ड के छेद को मै अंगूठे से छू रहा था।
मामा ने ये देखा तो धीरे से पूछा मरना है क्या।
मैने सर हां में हिला दिया।
उसने मेरे तरफ़ तेल की शीशी बड़ाई।

मैं तेल उसके गाड़ के छेद पर गिरा उसे मसलने लगा।
अब मामा उसके पीठ पर लद उसके मुंह को बंद कर दिया मैने चूत से लन्ड निकाल उसकी गांड़ मे अपना सुपाड़ा घुसा दिया।

वो चीख उठी।
मैने एक जोर का धक्का लगा आधा लन्ड अन्दर डाल दिया और चोदने लगा वो चिल्ला रही थी लेकिन मामा ने उसका मुंह बंद कर रखा था अब मैने जोर लगा कर पुरा लन्ड पेल दिया।

कुछ देर बाद उसे भी अच्छा लगने लगा अब मैं उनकी गांड़ में ही झड़ गया।
वो काफ़ी थक गई थी तो उठ नही पा रही थीं।

मामा: अब तुम दोनो करो मै घर सोने जा रहा हूं।

कुछ देर बाद वो उठी तो।
कुसुम: तुम लोगो ने तो आज मुझे मार ही डाला।
मै:(उनके चूचे चूसते हुए।  ) और करना है।

कुसुम: हां।
मै उन्हें लेटा देता हूं और पूरा लन्ड एक साथ उसकी चूत में घुसा देता हूं।

कुसुम: आह पागल हो क्या बोला था ना एक बार में पुरा नही डालना।
मै:(उसके चूचे काटते हुए) साली, अब पता चला, अब बोल तूने सिमी को क्यूं मारा।
कुसुम: आह कौन सिमी मैने किसे मारा।
मै:(जोड़ जोड़ से चोदते हुए) साली तेरी ननद सिमी बोल क्यों मारती है।
कुसुम: आह आह दर्द हो रहा है इतने जोर से मत करो, मैने नही उसके बाप ने मारा होगा।

मै: झूठ बोलती है साली। चल बोल अब नही मारेगी और उससे घर का कोई काम नही करवाएगी।
( निप्पल पर काट लिया).

कुसुम: आह आह आह ठीक है अब नही मारूंगी और घर का सारा काम खुद करूंगी।
लेकिन तुम ये सब क्यों कर रहे हो।

मै: सुन साली सिमी मेरी जान है अगर उसे छुआ भी तो जान से मार दूंगा।

कुसुम: ठीक है अब मुझे छोड़ दो।
मां: (अब मै हल्के हल्के चोदना शुरू किया)अभी ध्यान से सुन तेरा भतार कहा है।
कुसुम: हैदराबाद।
मै: उससे पिछली बार कब बात हुई थी।
कुसुम:2 दिन पहले।
मै: सुन तेरा भतार जेल में है मै उसे छुड़वा दूंगा लेकिन वो मेरी और कुसुम की शादी के लिए मानेगा तब।
कुसुम: नही वो काम करता है जेल में कैसे होगा।

मै: पता कर लेना सुबह फोन कर।
अब मै उसकी चुदाई का वीडियो बनाने लगता हूं।
कुसुम: वीडियो क्यूं बना रहे हो।
मै: अगर तूने सिमी को छुआ भी तो ये वीडियो वायरल कर दूंगा।

अब मै उसे जोर जोर से चोदते हुए उसके अन्दर ही झड़ गया।

फिर उसे घर भेज दिया।

अगली सुबह सिमी जब कंडे पसारने आई तो बोली कि बापू कल रात से घर नही आया।

मैने कहा की मुझे पता है।
वो थोड़ी दुखी थी।

मैने अपने लेवर को थाने फोन कर छुड़वा लिया।
वो मुझेसे मिलने साईट पर आया तो मुझे धन्यवाद कहा।

मैने कहा आगे से शराब नही पीना। तो उसने बोला कि मेरे दोस्त को भी छुड़ा दीजिए।
तो एक मिस्त्री भड़क गया की मेरे मामा का उससे झगडा है उसे ना छुड़ाऊ।

फिर रात को सोनू मामा ने बताया कि ऐसा क्या जादू कर दिया कुसुम पर की वो आज भी तुमसे मिलना चाहती है।

रात मे कुसुम मै और मामा झोपड़े मे आ गए।
मामा: क्या कुसुम रानी कल तो नखरे कर रही थी अब भांजे को खोज रही हो।
उसने मामा को घर जाने को कहा मामा चला गया।

कुसुम: तुमने सही कहा था वो जेल मे ही हैं। किसी तरह उन्हें छुड़ा दो हम तुम्हारी शादी करा देगें।

मैने फोन कर जेल मे उसके पति से बात करवा दी।
वो रोने लगा कि कैसे भी उसे जेल से निकलूं। पुलिस ने उसे बहुत मारा था।
कुसुम: यहां एक लड़का है जो तुम्हें निकलवा सकता है, लेकिन उसकी शर्त है कि वो तुम्हारी बहन से शादी करना चाहता है।
उसका पति:(रोते हुए) कोई भी लड़का हो उसकी सारी शर्त मंजूर कर दो लेकिन मुझे यहां से निकालो।

मै:ठीक है सीधा शादी में आ जाना।

कुसुम खुश हो जाती है।
मै: ठीक है अब जाओ।
कुसुम: अब इतना रिस्क लेकर आई हूं तो चुदवा कर ही जाऊंगी।
मै: ठीक है पहले मेरे लन्ड की मालिश करो।
मै लेट जाता हूं।

वो तेल उठा मेरे लन्ड की मालिश करने लगती है मेरे आंड को तेल लगा सहलाने लगती है।
करीब दस मिनट वो मालिश करती है और अब वो मेरे लन्ड पर साड़ी उठा बैठ जाती है। और हल्के हल्के चुदाने लगती है।

कुछ देर में वो थक जाती है तो मै उसकी गांड़ पकड़ निचे से जोर जोर से चोदने लगा वो आह आह करते हुए झड़ गई कुछ देर बाद मै भी झड़ जाता हूं।

उस रात उसे दो बार और चोदता हूं।

अगले सुबह जब वो कंडे उठाने आती है तो।

सिमी: सुना है अपने लेवर को तुमने छुड़ा लिया है।
मै: हां, छुड़ाना पड़ा।
सिमी: मेरे बापू को भी छुड़ा दो ना।
मै: पर मुझे क्या मिलेगा।
सिमी: बहुत कुछ।
मै: ठीक है कल सुबह तुम्हारे बापू आ जाएंगे।

वो खुश हो गई।

फिर शाम को जब वो कंडे उठाने आई तो मैंने लौड़ों को बोल दिया कि कंडे उठा दे।
वो निचे आ कंडे उठाने लगे मै सिमी को उठा रूम मे ले गया वो शरमाने लगी अभी नही सब देख रहे हैं।

लेकिन मै उसे किस करता रहा।
कुछ देर में एक ने बोला: भईया उठ गया सारा।
मै उसके साथ बाहर आया।

वो काफी शरमा रही थी।
मै: क्या लौंडो धीरे धीरे उठाना चाहिए ना।
सभी हंसने लगे वे ऊपर चले गए, ।

मै: सुनो आज शर्ट पहन कर रहना अंधेरा होने पर।

अब मै ऊपर गया तो लौंडे मुझे मान गए।

एक बोला:वाह भईया मान गया आपको आपने पटा ही लिया।
दूसरा बोला: हां लेकिन शादी नही हो पाएगी।
मै: देखता जा बेटा शादी भी होगा और सुहाग रात भी।
तीसरा बोला: भईया आपने उसे चोद लिया क्या।
मै: भोसडीके भाभी है वो तुम्हारी।
तीसरा बोला: अरे बोलो ना कुछ किया।
मै: कहा यार यहां गांव में जगह ही नही है।

चौथा बोला: अरे जुगाड क्यों नहीं है आप उसके यहां से दूध लो, नजदीक के घर में वो ही दूध पहुंचाने जाती है, मिल लेना।
मै: लेकिन कहा मिलूंगा मामा के पुराने घर पर तो बहुत लोग रहते हैं। (अपने एक ममेरे भाई के तरफ इशारा कर) तुझे तो पता है, वहा तो मै उससे बात भी कर लूं तो सब शक करने लगेगें,
अच्छा दूध के लिए कह देता हूं कभी ना कभी तो मौका मिलेगा।

अब अंधेरा हो गया तो मैने उसे अन्दर तिर लिया और रूम मे ले जा उसके होठ चुसने लगा उसके गर्दन पर चुसने लगा उसकी स्वेटर खोल उसके शर्ट के बटन खोल दिया उसकी ब्रा पर से उसके चूचे चुसने लगा फिर उसका ब्रा उतार उसके चूचे चूसे वो हफाने लगीं।

कुछ देर में वो शान्त हुईं तो मैंने उसे कहा कि कल सुबह से मेरे घर दूध पहुंचा देना।
वो खुश हो मुझे किस करने लगी।
फिर हम अलग हुए मैने उसे ऊपर चढ़ाते हुए उसके गान्ड को दबा दिया।

अगले दिन सुबह सुबह वो दूध देकर चली गई।
दिन मे मै थाने चला गया।

वहा पहुुंच बोला कि मैं छुड़ा दूंगा लेकिन अपनी बेटी की शादी मेरे से करानी पड़ेगी।
थानेदार हंसने लगा, की ऐसी शादी के लिए कौन पूछता है।

वो मेरे पैरों में गिर गया और बोला की मैं शादी करा दूंगा। पहले मुझे छुड़ा दो इन लोगो ने बहुत मारा।
मै बोला तू भी तो अपनी बेटी को मारता है।
वो रोने लगा कि गलती हो गई अब नही मारूंगा।

मैने कहा कि ठीक है कल आ जाना।

अगले सुबह सुबह ही वो छूट कर आ गया।
फिर उसकी बेटी दूध पहुंचाने आ गई मुझे देख मुस्कराने लगी।

फिर कुछ दिन ऐसे ही चला अब वो कोई काम नही करती सिर्फ मेरे घर दूध देने आती और स्कूल मे कंडे उठाने पसारने आती।

न्यू ईयर के सुबह सुबह ही वो दूध पहुंचाने आ गई।
मेरा एक भाई उसे बोला कि चलो तुम्हे नए घर का काम दिखा लाता हूं फिर मेरे भाई ने मुझे भी चलने को बोला मैने चार दिवारी का ताला खोला और हम तीनो अन्दर आ गए, ।

आज न्यू इयर था तो आज काम नही होना था।

घर के चारों तरफ़ 7 फिट ऊंची दीवार बन चुकी थी, घर का काम लिंटल लेवल तक हो चुका था।

हमारे अन्दर आते ही ।
आप लोग एंजॉय करो मै जाता हूं।
वो गेट बंद कर चला जाता है।

मै उसे गोद उठा एक कमरे के तरफ लाता हूं और एक प्लेट फार्म पर बिठा देता हूं।
ऊपर खुला आसमान था और नीचे मै उसके आंखों मे आंखे डाल उसे किस करने लगाता हूं।
वो शरमा जाती है।
उसके गर्दन चुसने चाटने लगा उसके कान चबाने लगा
उसके गले पर चूमने लगा।
उसके स्वेटर खोल उसके सूट को गले तक उठा उसकी ब्रा उतार उसके मौसमी जैसे चूंचे चुसने लगा वो सिसकारियां भरने लगी।
काफी देर उसके दोनों चूंची को खूब चूसा इतना की लाल हो गया।

अब मै उसके पेट चाटने लगा उसकी नाभि चूसने लगा उसके पेडू चूसने लगा उसकी चूत पर कपड़ो के ऊपर से ही जीभ फिरा दिया वो सिहर उठी मेरा सिर पकड़ कर हटाने लगी।

मैने उसके पजामे का नाड़ा खोलना चाहा तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मना करने लगी।
मै उसे किस करने लगा और अपना हाथ उसके चूत पर कपड़ो के ऊपर से रख सहलाने लगा वो सिसकारियां भरने लगी।
अब मैंने उसका सलवार खोल दिया वो शरमा कर अपना चेहरा मेरे सीने में छुपा लेती है।

मै उसके पैंटी पर से उसे चूम लेता हूं।
वो मुझे मना करती है, ।
मै उसका पैन्टी मुंह से उतार देता हूं, उसकी चूत एक दम कोमल गुलाबी बिना बालों वाली थी मैं उसे चूम लेता हूं।

वो सिहर उठी। मै अब ऊपर से नीचे और निचे से ऊपर जीभ फिराने लगता हूं उसके जांघ फरफराने लगते हैं।

मै उसकी चूत चाटने लगा कुछ देर में वो कांपते हुए झड़ जाती है।

मै उसे कपड़े पहना उसे किस कर उसे बाहर भेज देता हूं।

अब रात को कुसुम सोनू मामा से बोल मुझे बुलाती है।

सभी झोपड़े मे मिलते हैं,।
मामा: कुसुम रानी आज तो मै नही चोद पाऊंगा आज न्यू ईयर है, आज अपनी बीबी को चोदूंगा।
कुसुम: तुझसे कौन चुदवाने आया है, मै तो इससे चुदवाऊंगी।
माना: ठीक है भांजे तू इसके साथ न्यू ईयर मना।
मै: मामा, मामी की लाइव चुदाई दिखाओ ना।
मामा: ठीक है भांजे।

अब मामा जाकर वीडियो कॉल कर पंखे पर फोन रख देता है वहा से उनका आधे से ज्यादा पलंग दिख रहा था मामी कम्बल ओढ़ सो रही थीं।

मामा उनके साथ लेट कम्बल हटा देता है वो उठ जाती हैं कुछ बातें करते हैं। आवाज कुछ सुनाई नहीं दे रहा था।
मामा उन्हें मनाते हैं वो मान जाते हैं तो वो किस करने लगे।
इधर हम दोनो उनका लाइव रोमांस देख रहे थे। मैने अपना फोन झोपड़े के छत के चाली में फसा दिया था।
वो मेरे लन्ड को पकड़ तेल से मालिश कर रही थीं और मै उनके चूत की अपने हाथ से तेल लगा मालिश कर रहा था।

उधर मामा मामी किस करते हुए मामी को नंगा करने लगे तो मामी मना कर रही थीं।
उन्होने उसके ब्लाउज खोल उसके चूंचे चुसे उनकी साड़ी उठा उनकी चूत पर लन्ड रख अन्दर डाल दिया।
इधर मैने भी लन्ड डाल दिया।

अब दोनों तरफ़ जबरदस्त चुदाई चलने लगी।

10 मिनट में मामा मामी के अन्दर ही झड़ उनके ऊपर लेट जाता है।

मै अभी भी चोदे जा रहा था 10 मिनिट बाद मैं भी झड़ जाता हूं।

फिर रात भर वो मेरे लन्ड की मालिश करती हैं और मै उन्हें चोदता हूं।

कुछ महीने बाद घर रेडी हो जाता है इधर हमारी शादी की भी तैयारी शुरु हो जाती है।

सब ऐसा घर का डिजाइन देख चौंक जाते इतना सुन्दर घर पूरे इलाके मे कही नही था लोग विजिट करने आते पूछते की किसका घर है किसने बनाया है।

अब हमारी शादी हो गई तो मैं दुल्हन ले जाने लगा तो मेरे मामा ने कहा कि इतनी दूर तेरा घर है।
आज मत जा कल जाना।
तूने ये घर बनाया है तो अपनी सुहाग रात भी यही मना।
मै मान जाता हूं।
अब मै उसे गोद मे उठा अन्दर ले जाता हूं। पूरे घर मे हमारे अलावा कोई नहीं था।

पुरा बेड ममेरे भाई ने फूलों से सजाया था।

मै उसे बेड पर लेटा देता हूं।

मै: कैसा लगा।
सिमी: बहुत अच्छा! घर है हम अपना घर भी ऐसा ही बनवाएंगे।
मै: ठीक है।

अब मै उसके माथे पर चूम लेता हूं उसके आंख पर चूम लेता हूं उसके गर्दन को गालों को गले को चूसने लगा वो सिसकारियां भरने लगी।
उसके चोली खोल उसके बोबे चूसे अब इतने दिन मैने उसे प्यार किया था तो उसके मौसमी अब संतरे बनने वाले थे।

उसके बोबे चूसते चूसते उन्हें लाल कर दिया।
उसका पेट चाटने लगा।
उसका लहंगा उतार अपने दातों से उसकी पैन्टी उतार उसकी चूत चुसने चाटने लगा वो आह आह करने लगी मेरे सिर पर हाथ फेरने लगी।

कुछ देर चूत चुसने के बाद मै उसके चूत पर लन्ड रख घिसने लगा उसके चूत के पतले होंठ खोल उनमें लन्ड घिसने लगा अब मैने सुपाड़ा घुसा दिया वो सिहर उठी उसके मुंह से आह निकल गया।

अब मै उसके ऊपर लेट उसे किस करते हुऐ आधा लन्ड अन्दर डाल दिया वो चीख पड़ी।
मैने उसे सहला रहा था उसे किस कर रहा था जब वो कुछ नॉर्मल हुई तो मैने पुरा लन्ड घुसा दिया उसकी चूत से खून निकलने लगा।
बेड शीट पर खून का दाग लग गया था।

वो रोने लगी, मै उसे चुप कराने लगा उसके निप्पल चूसे, उसके गर्दन को चूसा।
कुछ देर में वो शान्त हो गई तो मैंने उसे चोदना शुरू किया हल्के हल्के वो मेरे पीठ पर हाथ फेरने लगी और मेरे सीने पर चूमने लगी।

मै उसे चोदे जा रहा था कुछ देर बाद वो कांपते हुए झड़ गई मैंने उसे बांहों मे भर लिया उसे अपने ऊपर लिटा लिया मेरा लन्ड अभी भी उसकी चूत में था,।
उसे किस करता रहा उसके गान्ड दबाता रहा कुछ देर में वो कुछ गर्म हुई तो अपनी गान्ड उठाने लगी धीरे धीरे।
मै उसकी गांड़ पकड़ निचे से धीरे धीरे चोदने लगा।
जब वो थक गई तो मैंने उसे लेटा कर चोदना शुरू किया और उसके अन्दर ही झड़ गया वो दो बार झड़ चुकी थीं।
वो पूरी तरह थक चुकी थी मैंने अब उसे बांहों मे भर सुला लिया
अब भोर में मैने उसे एक बार फिर चोदा और सो गए सुबह नींद तब खुली जब वो सारे लौंडे मुझे जगाने आए और बाहर चारदीवारी वाला गेट पीटने लगे।

वो अभी भी सो रही थी नंगी ही।

मै बेडरूम का गेट बंद कर बाहर आ कर गेट खोला।
गेट खोलते ही चारों अन्दर आ गए।
एक बोला: ये पियाकवा के बेटी उठ जो।
मै: भोसडी वालों भाभी है, अब तुम्हारी।
दूसरा बोला: कितना बार किए।
मै: जितनी बार तुम्हारी मां को मामा किया था।
तीसरा बोला: अरे खून निकाला था की नही सिल टूटल था।
मै: तुम्हारी मईया से पूछो सिल टूटल था कि नही।
चौथा बोला: हमको लगता है सिल टूटले होगा इतना दिन से मिल रहे थे तो पहले ही खा लिया होगा कि, जोगा कर कौन रखता है।

सब मुझे लूट रहे थे मिलाओ, मिलाओ।

वो मेरे बेडरूम के तरफ बढ़ने लगे।

मै: रूक जाओ भोंसड़ी वालों मै जाता हूं पहले वो अभी नंगी ही सो रही है।

सभी हंसने लगते हैं।

मैं बेड रूम मे जा गेट बंद करता हूं।
वो उठ गई थी मैं उसे किस करता हूं और चोली पहनाता हूं उसकी पैन्टी मिल नही रही थी तो मै सिर्फ उसे लहंगा पहना देता हूं।

सिमी: कौन आया है
मै: तेरे पुराने यार हैं मिलना चाहते हैं आखरी बार।
सिमी: आज बताती हूं इन मदरचोदों को।

अब मै दरवाज़ा खोलता हूं उन्हे अन्दर बुलाता हूं।
मै: अन्दर आ जाओ भोस्डी वालों देख लो अपनी मौसी को।

वो सभी हंसते हुए अन्दर आ जाते हैं।
एक बोला: मान गए भईया आपको आपने पहले दिन ही पियकवा के बेटी को दिल दे दिया और अब शादी भी कर ली।
दूसरा बोला: मुझे तो असम्भव लगा था,पर आपने तो खेला कर दिया, लाइए आपके पैर छू लेता हूं।
तीसरा बोला: लेकिन आपने पियकवा को और उसके बड़े बेटे को कैसे मनाया।

मै: सारे सवाल पूछ लो मुझसे ही अपनी मौसी से भी बात करो।

एक बोला: का पियकवा के बेटी कही दर्द बर्द है।
दूसरा बोला: खूब चुसल गया है, देख रहा है पुरा लाल होल है।
उसके होंठ चूसने से लाल हो चूके थे।
तीसरा बोला: ऊपर इतना चूसा गया है तो नीचे कितना चूसा गया होगा।

चौथा बोला: अरे बाप रे खून खराबा होल है जी।
उसने बेड शीट पर लगे खून को देख लिया था।

सिमी उसे छुपाने की कोशिश करती है।

सभी हंसने लगते हैं।

सिमी: बहुत हसी छूट रही है मदरचोदो, । बहुत मजे लिए हैं तुमने मेरे।
मै: मदद भी बहुत किया।
एक बोला: हां तुम्हारे बारे मे सब हम ही बताए थे।

दूसरा बोला: और मैने ही न्यू ईयर पर तुम दोनों को मिलाया था भूल गए।

सिमी: मदद किया तो, अब क्या दूं वापस बूर।

तीसरा बोला: दे दो।

सिमी: अच्छा रण्डी वालो, कभी बूर देखा है नया नया चूदा हुआ।

चौथा बोला: नही देखा तो दिखा दो।

सिमी: किसी को चुदाते देखा है, आज देखो।
( ये बोल सिमी अपने पैर फैला अपना लहंगा उठा देती है उसकी लाल हो चुकी चूत नजर आने लगते हैं, )

सारे आंखे फाड़ कर उसकी चूत देखने लगे।
मै: क्या देख रहे हो मदरचोंदो भागो यहां से।
सभी हस्ते हुए भाग जाते हैं मै अपना लन्ड निकाला उसकी चूत में डाल उसकी चुदाई करने लगाता हूं वो आह आह करने लगती।
रूम का दरवाज़ा खुला था वो सभी बाहर ही थे और हमारी चुदाई की आवाजें सुन रहे थे।

मै अब उसके चूंचे चूसते हुए उसकी चुदाई करने लगाता हूं 40 मिनट बाद मै उसके अन्दर ही झड़ जाता हूं
20 मिनट बाद बाहर आता हूं।
वो सभी बाहर ही थे और हस रहे थे।

मै:( बाहर आ कर) चलो अन्दर, कुछ गिफ्ट देना चाहती है।

अन्दर आ जाते हैं।
एक बोला: खूब आवाज आ रहा था।
दूसरा बोला: अब कुछ  महिना मे पेट फूलना शुरु हो जायेगा।

सिमी: चुप कर भोंसड़ी के,।
देख तुम लोगों ने मुझे कपड़ो के ऊपर से छू खूब मजा लिया। अब आज आखिरी बार नंगे शरीर पर छू कर मजा ले लो लेकिन सिर्फ एक बार और सब अलग अलग जगह पर।

पहले तू आ
सिमी: बोल क्या छूना चाहता है।
उसने बोबे के तरफ इशारा किया सिमी ने अपनी चोली उठा दिया और उसका हाथ अपने बोबे से लगा दिया।
उसने कुछ देर सहलाया और हटा लिया।
अब दुसरे को बुलाया उसमे चूत की तरफ इशारा किया।

सिमी ने उसका हाथ पकड़ा और अपने लहंगे के अन्दर डाल चूत से लगा दिया उसने जल्दी से हाथ खींच लिया और बोला छी।
उसके हाथ में मेरा और सिमी के चूत का पानी लग गया था वो हाथ धोने चला गया।
सभी हंसने लगे।

अब तीसरे ने उसकी गांड़ छूने को चाहा तो सिमी उल्टा बैठ गई उसकी गांड़ मेरी तरफ थी मुझे उसकी गांड़ देख लालच आ गया।
सिमी ने उसे गान्ड छूने को बोला उसने हाथ आगे बढाया उसके हाथ कांप रहे थे।

मै उसके गान्ड को चूमने चाटने लगा।
उसका हाथ पकड़ सिमी की गांड़ पर रखा कुछ देर उसने सहलाया और फिर हटा लिया।

चौथा बोला: अब मेरे लिए कुछ बचा ही नही।
सिमी: ला मै तेरा लन्ड छू देती हूं। उसने उसका लन्ड कपड़ो के ऊपर से ही छुआ की वो आंखें बन्द कर झड़ गया।
सभी हंसने लगे।
मै: कोई बात नही होता है ऐसा।

मै:निकलो अब की चुदाई देखनी है। सभी ने कहा एक बार दिखा दो ना।

मै: ठीक है।
सिमी की गांड़ अभी भी मेरे तरफ थी।
मैने डॉगी स्टाईल मे लन्ड घुसा चोदना शुरू किया वो आह आह करने लगी 30 मिनट मे वो दो बार झड़ चुकी थी अब मै भी उसके अन्दर झड़ गया।।

कुछ देर बाद हम उठे तो मैने बेडशीट उठा उसकी चूत पोंछा और उसे उनकी तरफ फेंकते हुए बोला,।
मै: ये ले जाओ बेटे साफ कर देना।
एक बोला: इसे साफ नही करुंगा, निशानी बना रखूंगा।  पियकवा के बेटी के सिल टूटने का गवाही के तौर पर।
मै: चाहे जो करो ये अब तुम्हारा हुआ।

अब वो चले गए।

अब हम तैयार हो अपने घर को निकले।

मैने उसे अपने घर ले गया वो मेरा घर देख भौंचका रह गई।
सिमी: तुम्हारा घर तो उससे भी सुन्दर और आलीशान है।

मै उसे चुमते हुऐ।
ये अब तुम्हारा घर है सिमी डार्लिंग।
अब हम खुशी से रहने लगे अपने घर में।
खूब चुदाई करते हैं हम दोनो।

कहानी पूरी पढ़ने के लिए धन्यवाद।
आप अपने प्यारे प्यारे कमेंट से हमारा प्रोत्साहन करे। Bhai Aur Bahan Ki Chudai Kahani कैसी लगी, मुझे ईमेल करके जरूर बताइएगा : lovesingh171099@gmail.com

4.8/5 - (33 votes)

error: Content is protected !!