मौसी की लड़की की पहली चुदाई – Mausi Ki Ladki Ki Chudai, Sex Story

मौसी की लड़की की पहली चुदाई – Mausi Ki Ladki Ki Chudai, Hindi Sex Story

मेरा नाम अभी है और मेरी उम्र 26 साल है मेरी हाईट 5फुट 11इंच है मै यूपी का रहने वाला हूं। मैं लंबा, डार्क और हैंडसम लडका हूं।

ये कहानी मेरी और पिंकी दीदी ( मेरी मौसी की लड़की) की है । पिंकी दीदी की उम्र 30 साल है। सावली, पतली और बड़े बूब्स और बिग ऐस है। मैं अक्सर मौसी के घर जाया करता था। हम लोग एक दुसरे को जानते थे और हम एक दुसरे के साथ भाई बहन की तरह ही रहते थे। उस समय गांव में बाथरूम नही होता था। और पक्के घर भी नहीं होते थे लोग मंडई बना कर रहते थे। एक बार हम लोग हाइड एंड सीक खेल रहे थे। मैं छिपने के लिए मंडई के पिछे छुप गए । मंडई के पिछे पुआली थी उसी में छुप गए। तभी देखा कोई वहा आया। ध्यान से देखा तो वो पिंकी दीदी थी तभी उन्होंने इधर उधर देखा फिर धीरे से सलवार खोलने लगी सलवार खोल के पैंटी नीचे करने लगी और फिर बैठ गई और पेसाब करने लगी। अंदर उनकी पूरी चूत नजर आ रही थी । काले बाल, चूत के लिप्स देखने के बाद मेरी सांसे लम्बी लम्बी होने लगी। उन्हें भी अहसास हुआ की कोई पुआल के अंदर है। पेशाब करने के बाद उन्होंने पुआल को हटाया तो मुझे देख वो पहले डांटने लगी। फिर वहा से चली गई। फिर शाम हुई सब लोग खाना खा के सोने चले गए। मौसा,मौसी अलग मंडई में सोते थे मैं और पिंकी, उनकी तीन बहने एक अलग जगह सुला दिए। लगभग एक घंटे बाद ताली बजने की आवाज आना शुरू हुई ।

Submit Your Story : https://www.sexstorian.com/submit-your-story

Mausi Ki Ladki Ki Choot Chudai

थोड़ी देर बाद किसी के बोलने की आवाज आने लगा। और तेज, और तेज आह आह फिर ताली बजाने की आवाज आती फिर थोड़ी देर बाद सब बंद हो जाती। ऐसे रोज रात को 12-1 बजे के बीच होने लगा। मैंने एक दिन पूछ ही लिया की दीदी ये किस चीज आवाज आ रही है और कहा से। दीदी कुछ नहीं बोली और हल्का मुस्कुरा ये कहते हुए चली गई की सो जाओ। पड़ोस में कोई काम कर रहा होगा । मैं सो गया मैंने मन ही मन कहा कल देखूंगा की ये कहा से आ रही है। फिर रात हुई सब खा के सो गए । फिर आवाज आना शुरू। मैं धीरे से उठ के बाहर निकला ध्यान से आवाज सुना तो ये आवाज मौसी की मंडई से आ रही थीं। मैं उनके मंडई की तरफ बढ़ा और पीछे से एक छोटा सा छेद था वहा देखा तो दंग रह गया। मौसा मौसी नंगे थे  मौसा जी मौसी की टांग उठा के जोर जोर से धक्के मारे जा रहे थे। और मौसी आह, आह और तेज बोल रही थीं मौसाजी अपना लंड मौसी के मुंह में डाल दीया । फिर थोड़ी देर बाद मौसी को घोड़ी बनाया और अपना लंड उनके चूत पे रख के बड़ी तेज झटका दिया और मैसी चिल्ला उठी। और उधर मौसी की तेज आवाज से पिंकी दीदी भी जाग गईं। उन्होंने देखा मै खटिया पे नही था। तो मुझे ढूंढ के सो गई। और मैं पूरा चुदाई देख कर सो गया।

अब रोज रात को मैं खटिया पे नही होता था और रोज पिंकी दीदी ढूंढ के सो जाती थी एक दिन रात हुई सब खा पी के सो गए रात के 12 बजे और रोज की तरह उठा और निकल गया। उस दिन पिंकी दीदी भी जाग रही थी वो भी मेरे पीछे पीछे दबे पाव आने लगी मैं पहुंचा और चुदाई देखने लगा वो भी धीर धीरे आई और पीछे से, धीरे से मेरे कान में बोला यहां क्या कर रहे हो । मैंने पलट के देखा मुझे सांप सूंघ गया। मैं कुछ ना बोल सका। उन्होंने ने भी छेद से देखा तो दंग रह गई। मौसा मौसी पूरे नंगे और भरपूर चुदाई का आनंद ले रहे थे। मौसा जी लंड मौसी की चूत को चीरता हुआ अन्दर बाहर हो रहा था और मौसी आह,आह……. कर रही थीं ये देख के दीदी शर्मसार हो गई । उन्होंने मेरा कान पकड़ा और विस्तार पे ला कर खूब डांटा और फिर सोने चली गई। अब रोज रात मैं देखने पहुंच जाता और वो मुझे पकड़ के लाती। एक रात मैं नहीं गया और सोने का नाटक करने लगा थोड़ी देर बाद उठा और देखा की पिंकी दीदी अपने विस्तर पे नहीं थीं।

मैं सोचा की ये कहा जा सकती है बाहर आ कर देखा कही दिख नहीं रही थी मैंने सोचा चलो चुदाई देखने चलते है तो जैसे मौसी की मंडई के पिछे देखा तो पिंकी दीदी उस छेद से देख रही थीं। और उनका सलवार निकला था पैंटी भी उतारी थी और अपने चूत में उंगली कर रही थी और धीरे धीरे स…. स…. स….. स……….. की आवाज निकाल रही थीं। पिंकी दीदी मौसी की चुदाई देख रही थी और मैं उन्हें देख रहा था। पिंकी दीदी की नजर मुझ पे गई तो वो डर, और शर्म से लाल हो गई जल्दी जल्दी पैंटी उठा के पहना फिर सलवार पहन जल्दी जल्दी विस्तर पे जय कर लेट गई और मोबाइल चलाने लगी। मैं कुछ नही बोला। और मैं भी सो गया। दो दिन हमने एक दुसरे से बात नही की। अब मेरा भी मन सेक्स करने के लिए मचल रहा था और पिंकी दीदी भी लंड के लिए पागल हुई जा रही थी । एक दिन पिंकी दीदी नहाने के लिए बाथरूम में गई और नहाने लगी घर पे कोई भी नहीं था।मुझे भी प्यास लगी तो मैं भी जा पहुंचा। जैसे ही मैं घुसा दीदी पूरा नंगी थी उनकी चूची बड़ी बड़ी और तरबूज के समान उनकी गांड़ और काली चूत उनकी खूबसूरती देख के मैं पागल हो गया। मैं उनके होठों को चूसने लगा थोड़ी देर वो भी मुझ पर टूट पड़ी । उन्होने मेरा भी होठ चूसना शुरू कर दिया। अब मैं उनके चूची को धीरे धीरे दबाने लगा।

Submit Your Story : https://www.sexstorian.com/submit-your-story

मौसी की लड़की को पटा के चोदा

उनके मुंह से धीरे धीरे आवाज आने लगीं। मैं पिंकी को वही लिटा दीया और उनके चूत के लिप्स को धीरे धीरे सहलाने लगा। पिंकी दीदी की सांसे तेज होने लगीं। 2 मिनट सहलाने के बाद उन्हें चाटने लगा फिर उनकी चूत पे लंड रख के जोरदार झटका मारा पूरा लंड चूत के अंदर। अब जोर जोर से झटके देना शुरू कर दीया। पिंकी दीदी भी लंड का पूरा मजा ले रही थी और जोर जोर से गालियां बोल रही थी अभी बहन चोद आज अपनी बहन की चूत फाड़ दे। पूरा रण्डी बना दे । मैं तेरी आज से रखैल हु। और मैं धक्के जोर जोर से मार रहे था। 10 मिनट तक चुदाई चलने के बाद मैंने पूछा दीदी अब मैं झड़ने वाला हूं। वो बोली चूत में छोड़ दे बहन चोद। मैंने अपना लंड का पानी उनकी चूत में छोड़ दीया। फिर बाथरूम से बाहर आ गया। अब जब मन करता है चुदाई का मौसी के घर जाता हूं और चोद के आ जाता हूं । तो ये थी मेरे और पिंकी दीदी की चुदाई की कहानी। ये कहानी आपको कैसी लगी मेल करके जरूर बताये : jockyjhon318@gmail.com धन्यवाद !

4.6/5 - (114 votes)

error: Content is protected !!