भाभी की मस्त चुदाई की कहानियाँ : New Bhabhi Sex Stories

भाभी की मस्त चुदाई की कहानियाँ : New Bhabhi Sex Stories – Bhabhi ki Choot Chudai ki kahani hindi sex stories antarvasa kamukta

लगभग 1 घंटे तक हम दोनो आराम करते रहे. मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था. मैने उसे अपनी तरफ खीच लिया तो वो मुझसे चिपक गयी. मैं उसके होठों को चूमने लगा और वो भी कुच्छ देर बाद मेरे होठों को चूमने लगी. मेरा लंड अब एक दम टाइट हो चुका था. मैं उठ कर उसकी टाँगों के बीच आ गया और अपना लंड उसकी चुत के बीच रख दिया.

फिर मैने अपना लंड एक झटके से पूरा का पूरा उसकी चुत में डालने की कोशिश की लेकिन मेरा पूरा लंड उसकी चुत के अंदर नही गया. उसकी चुत अभी भी टाइट थी. मैने 2-3 जोरदार धक्के लगाए तो मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चुत में घुस गया. फिर मैने बहुत ही तेज़ी के साथ उसकी चुदाई शुरू कर दी. थोड़ी देर बाद वो शांत हो गयी और उसे मज़ा आने लगा. कुच्छ देर बाद वो अपना चूतड़ भी उतने लगी.

10 मिनट की चुदाई के बाद वो झाड़ गयी. मैं एक दम आँधी की तरह उसे चोदता रहा. वो अपना चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी. लगभग 35 मिनट तक चोदने के बाद मैं उसकी चुत में ही झाड़ गया.

वो भी इस बार की चुदाई के दौरान 2 बार झाड़ चुकी थी. उसके बाद मैं उसके बगल में लेट गया. सुबह होने वाली थी और हम दोनो बुरी तरह तक चुके थे और सो गये. सुबह के 8 बजे नेहा ने मुझे जगाया.

वो फ्रेश होने जाना चाहती थी लेकिन खड़ी नहीं हो पा रही थी. मैने उसे सहारा दे कर खड़ा कर दिया तो वो बहुत ही धीमी चल से लहराती हुई फ्रेश होने चली गयी. उसके वापस आने के बाद मैं भी फ्रेश होने चला गया.

वापस आने के बाद मैने नेहा से कहा चलो अब हम साथ साथ नहा लेते हैं. हम दोनो बाथरूम में नहाने चले गये. हम दोनो ने एक दूसरे के बदन पर खूब साहबुन लगाया. नेहा ने मेरे लंड पर भी साहबुन लगाया तो मेरा लंड खड़ा हो गया. लंड के खड़ा हो जाने के बाद मैने बाथरूम में ही उसे डॉगी स्टाइल में कर दिया.

मैने उसके गान्ड के छेद पर अपने लंड का सूपड़ा रखा तो वो बोली ये क्या कर रहे हो. मैने कहा मुझे इसका मज़ा भी लेना है. जब तक वो कुच्छ बोल पाती मैने एक धक्का लगा दिया. वो बहुत ज़ोर से चीखी. साहबुन लगा होने की वजह से एक ही धक्के मारा लंड उसकी गान्ड में 4″ तक घुस गया. मैने उसकी गान्ड मारनी शुरू कर दी. थोड़ी देर बाद जैसे ही शांत हुई तो मैने एक धक्का और लगा दिया. वो बहुत ज़ोर से चीखी और मेरा लंड उसकी गान्ड में 2″ और घुस गया. मैने फिर बहुत तेज़ी के साथ उसकी गान्ड मारनी शर कर दी.

थोड़ी देर बाद जब वो फिर से शांत हो गयी तो मैने बिना रुके बहुत ही जोरदार 4-5 धक्के लगा दिए और मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी गान्ड में घुस गया. वो ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी लेकिन मैं रुका नहीं. मैने बहुत ही तेज़ी के साथ उसकी गान्ड मारनी शुरू कर दी. 20-25 मिनट तक उसकी गान्ड मरने के बाद मैं उसकी गान्ड में ही झाड़ गया. उसके बाद हम नहा कर बाहर आ गये. नाश्ता कर लेने के बाद मैने फिर से नेहा की चुदाई शुरू कर दी. इस बार मैं थोड़ी देर तक उसकी चुत की चुदाई कराता फिर उसकी गान्ड मरने लगता. इस तरह बारी बारी से मैने उसकी गान्ड सुर चुत दोनो की चुदाई की. 20 मिनट बाद मैं उसकी गान्ड में झाड़ गया.

उस दिन रात के 9 बजे तक मैने नेहा को 5 बार चोदा और 2 बार उसकी गान्ड मारी. हम दोनो तक गये थे इस लिए पूरी रात सोते रहे. तीसरे दिन सुबह से ही मैने फिर से नेहा की गान्ड और चुत की चुदाई शुरू कर दी. उस दिन मैने रात के 10 बजे तक नेहा की 5 बार गान्ड मारी और केवल 2 ही बार उसकी चुत को चोदा. उसकी चुत और गान्ड का मूह एक दम खुल चुका था और मेरे लंड के साइज़ का हो चुका था. अब उसे बिल्कुल भी दर्द नहीं होता था और उसे खूब मज़ा आता था. अब वो आराम से चलने फिरने भी लगी थी.

मैने नेहा से उसकी मम्मी को चोदने के बड़े में बताया तो उसे विश्वास नही हो रहा था. मैने उस से कहा पहले तुम्हारी मम्मी ज़्यादा खुश नहीं रहती थी लेकिन अगर तुमने ध्यान दिया होगा तो वो इधर 2 महीने से वो बहुत ज़्यादा खुश रहती हैं. उसने थोड़ी देर तक सोचने के बाद कहा हाँ तुम ठीक ही कह रहे हो. पहले मम्मी बात बात पर गुस्सा हो जाती थी लेकिन इधर 2 महीने से वो बिल्कुल भी गुस्सा नहीं कराती. नेहा के मम्मी पापा 10 दिन बाद वापस आ गये. उनके वापस आने तक मैने नेहा के चुत की 45 बार चुदाई की और 22 बार उसकी गान्ड मारी. अब मधु कम करने आने लगी.

उसने मुझसे चुदवाना शुरू कर दिया. 2 दिन बाद भैया और भाभी भी आ गये. भाभी ने मुझसे पूछा कैसी रही नेहा की चुदाई. मैने कहा बहुत अच्छी. मुझे पहली पहली बार कुँवारी चुत और गान्ड का मज़ा मिला है.

भाभी ने कहा क्या कह रहे हो. मैने कहा मैं ठीक कह रहा हूँ. मैने नेहा की गान्ड भी मारी है. गान्ड मरने में भी बहुत मज़ा आया. भाभी ने एक दिन मधु को नेहा के बड़े में सारी बात बता दी. पहले तो मधु नाराज़ हुई लेकिन बाद में भाभी के समझने पर वो मन गयी. कुच्छ दिन बाद नेहा भी मधु के साथ आई.

दोपहर में जब मधु किचन में खाना बना रही थी तो मैने अपने बेडरूम में नेहा को चोदना शुरू कर दिया क्यों की मधु को खाना बनाने में 1 घंटे लगते थे. अभी मुझे नेहा की चुदाई करते हुए 15 मिनट भी नहीं बाते थे की मधु आ गयी. मैने उसे देख लिया लेकिन नेहा नहीं देख पाई. मैं नेहा की चुदाई रोक कर हतने ही वाला था की मधु मुस्कुराते हुए वापस चली गयी. मधु के वापस जाते ही मैने फिर से नेहा की चुदाई शुरू कर दी और बहुत ही तेज़ी के साथ उसे चोदने लगा. लगभग 30-35 मिनट चोदने के बाद मैं झाड़ गया. इस दौरान नेहा भी 3 बार झाड़ चुकी थी.

आपको कैसी लगीं? कृपया कमेंट के माध्यम से बताएं और यदि आप भी इनके कोई रोचक किस्से जानते हों तो हमें ज़रूर भेजें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *